झोपडी मे रहता था परिवार,कर्ज लेकर चुनाव लड़ा आज बन गया विधायक … इस MLA की देश में हो रही चर्चा

झोपडी मे रहता था परिवार,कर्ज लेकर चुनाव लड़ा आज बन गया विधायक … इस MLA की देश में हो रही चर्चा !

MLA कमलेश्वर डोडियार

अभी हाल ही में चार राज्यों में विधानसभा चुनाव समाप्त हो चूके हैं। चार राज्यों में विधानसभा चुनाव हुए जहाँ पर तीन राज्यों में बीजेपी ने बाजी मारी हैं ! इन चुनाव में एक MLA ऐसा है जो कि देश में सुर्खियां बटोर रहा है और उसकी चर्चाएं जोरों पर हैं। तस्वीरें भी इस वक्त वायरल हो रही है

यह विधायक न तो बीजेपी पार्टी से हैं और न ही कांग्रेस पार्टी से है। यह नई पार्टी बनी है। भारत आदिवासी पार्टी उस पार्टी के विधायक चुने गए हैं। आपको बता दें यह राजस्थान की एक नई पार्टी हैं ! लेकिन ये हैं प्रदेश मध्यप्रदेश के रतलाम जिले की सैलाना सीट से कांग्रेस के हर्षविजय गहलोत को 4618 वोटों से हरा कर के अपनी जीत दर्ज करी है और इनके बारे में जानकारियां बता दें कि ये इसलिए चर्चा में है क्योंकि ये 12 लाख का कर्ज ले करके उन्होंने चुनाव लड़ा है और बाइक पर बैठकर ये राजधानी भोपाल पहुँच गए हैं, जहाँ पर मध्यप्रदेश विधानसभा है। ठंड के मौसम में लगभग 350 किलोमीटर की दूरी पर बाइक चलाकर के आठ 9 घंटे के बाद ये पहुंचे हैं मध्यप्रदेश विधानसभा ! इसीलिए चर्चाओं में है। इसका वीडियो हमने आपको दिया है। आप उसको भी देख सकते हैं।

इनका संघर्ष सील जीवन रहा है और इसके संघर्ष से आप भी अगर जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं तो कुछ सीख सकते हैं ! अब मध्य प्रदेश विधानसभा में पहुँच चूके हैं। यानी अब MLA बन चुके है !

दुष्कर्म, रासुका और जिलाबदर जैसे मामलों में भी केस दर्ज

आपको बता दें इन नए नवेले विधायक के ऊपर एक बार दुष्कर्म, रासुका और जिलाबदर जैसे मामलों में भी केस दर्ज हो चुका है। विधायक कमलेश्वर डोडियार के खिलाफ एक दुष्कर्म का दर्ज करवाया था। यह केस उसी लडकी ने दर्ज करवाया जिससे उनकी सगाई होनी थी उसी लड़की ने विरोधियो के संपर्क में आ करके ये केस उनके ऊपर दर्ज करवा दिया जाए। जिसके चलते इनको जेल में भी जाना पड़ा था। लेकिन चुनाव से नामांकन दर्ज करने से पहले ही इनको जमानत मिल गई थी।

बराक ओबामा से प्रभावित हुए

विधायक कमलेश्वर का कहना है कि ये राष्ट्रपति बराक ओबामा से बड़े प्रभावित हैं कि किस तरीके से बराक ओबामा एक संघर्षशील आदमी थे और अमेरिका जैसे देश के राष्ट्रपति बन सकता है तो उनसे ये प्रभावित होकर के संघर्ष करते रहे और अंत में अबकी बार कर्ज ले करके झोपड़ी में रहने वाले एक सामान्य आदमी कर्ज लेकर के चुनाव लड़ता है। और आखिरकार संघर्ष की जीत होती है और ये मध्यप्रदेश विधानसभा में पहुँच जाते हैं।

Leave a Comment