MP मुख्यमंत्री ( Mohan Yadav ) पर “चिढ़ा” पकिस्तान, मुख्यमंत्री ने किया जबर्दस्त पलटवार-पकिस्तान चारो खाने चित

MP मुख्यमंत्री ( Mohan Yadav ) पर “चिढ़ा” पकिस्तान, मुख्यमंत्री ने किया जबर्दस्त पलटवार-पकिस्तान चारो खाने चित

MP मुख्यमंत्री Mohan Yadav

एमपी के सीएम मोहन यादव ने एक बयान से पाकिस्तान में खलबली मचा दी। सीएम मोहन यादव ने कहा कि पंजाब, सिंध, गुजरात, मराठा का जिक्र आज भी हमारे राष्ट्रगान में है और ये अखंड भारत का हिस्सा है। हम सिंध को अलग कैसे छोड़ सकते हैं? ये हमारा सांस्कृतिक, अखंड भारत हैं।

दरअसल मामले की शुरुआत होती है अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद। दरअसल, पाकिस्तान सरकार ने अयोध्या में रामलला प्राण प्रतिष्ठा समारोह की निंदा करी। इस पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि मस्जिद की जगह पर बना मंदिर आने वाले समय में भारत के लोकतंत्र के माथे पर कलंक बना रहेगा। खासकर वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद और मथुरा में सही ईदगाह मस्जिद सहित मस्ज़िदों की सूची बढ़ती जा रही है, जो कि अपवित्रता और विनाश की सामान खतरे का सामना कर रही है। पाकिस्तान ने रामलला के प्राण प्रतिष्ठा पर सवाल उठाए, आपत्ति दर्ज करवाई कि मस्जिद को तोड़कर मंदिर बनाया गया है जो कि भारत पर कलंक रहेगा। पाकिस्तान ने ये भी कहा कि भारत में हिंदुत्व विचारधारा का बढ़ता ज्वार, धार्मिक सद्भावना और क्षेत्रीय शांति के लिए भी खतरा है। भारत के दो प्रमुख राज्य उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्रियों ने बाबर मस्जिद के विध्वंस या राम मंदिर के उद्घाटन को पाकिस्तान के कुछ हिस्सों को पुनः प्राप्त करने की दिशा में पहला कदम बताया है।

Also Read This : अयोध्या पहुंचने के बाद रामलला की मूर्ति के मूर्तिकार अरुण योगीराज ( Arun Yogiraj ) की पहली प्रतिक्रिया- आप भी जाने

इस बयान पर एमपी के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने करारा पलटवार किया है। यहाँ पर MP के मुख्यमंत्री Mohan Yadav ने कहा कि पड़ोसी मुल्क लाख आपत्ति जताए। लेकिन हम सभी जानते हैं कि पहले भारत अखंड ही था और कई स्थल हमारे अतीत में अखंड भारत के हिस्सा रहे हैं। MP के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने ये भी कहा कि पंजाब, सिंध, गुजरात, मराठा का जिक्र आज भी हमारे राष्ट्रगान में है और आज भी हम हमारे राष्ट्र को अखंड भारत मानते हैं। हम सिंध को अलग नहीं छोड़ सकते। सिंध हमारा सांस्कृतिक अखंड भारत का हजारों साल का सपना रहा है किसी के आपत्ति दर्ज कराने से सही बात गलत साबित नहीं हो जाएगी और वह बात अपनी जगह स्थाई रहेंगी, चाहे पाकिस्तान कितने भी आपत्ति दर्ज क्यों ना करवा ले।

राम मंदिर की स्थापना के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। पाकिस्तान डरा हुआ है की ये पहला कदम है। भारत हिंदुत्व की तरफ बढ़ रहा है और यह विचारधारा खतरनाक साबित हो सकती है पाकिस्तान के लिए और भारत पाकिस्तान के कुछ हिस्सों को भारत पाना चाहता है और यह भारत का पहला कदम है, ऐसा पाकिस्तान को लगता है। पाकिस्तान को एमपी के मुख्यमंत्री ने भी करारा जवाब दे दिया है। साथ ही सोशल मीडिया पर भारत की जनता ने करारा जवाब पाकिस्तान को दिया है कि पाकिस्तान ही भारत का हिस्सा है। अखंड भारत का हिस्सा है पाकिस्तान और जहाँ पर मंदिर बनना चाहिए था वहाँ पर मंदिर बना है।आप क्या सोचते हैं? कंमेंट बॉक्स में जरूर बता सकते हैं। आप पाकिस्तान को क्या जवाब देना चाहेंगे? कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

Also Read This : अयोध्या पहुंचने के बाद रामलला की मूर्ति के मूर्तिकार अरुण योगीराज ( Arun Yogiraj ) की पहली प्रतिक्रिया- आप भी जाने

Leave a Comment